नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। Indian Overseas Bank: सार्वजनिक क्षेत्र के इंडियन ओवरसीज बैंक ने घरेलू, विदेशी मुद्रा अनिवासी (बैंकिंग) सावधि जमा पर ब्याज दरों में तत्काल प्रभाव से संशोधन कर दिया है। इंडियन ओवरसीज बैंक ने एक बयान में कहा है कि घरेलू, अनिवासी बाहरी जमाकर्ताओं को 444 दिनों की अवधि की सावधि जमा पर 7.30 प्रतिशत तक और तीन साल और उससे अधिक की अवधि के लिए 7.25 प्रतिशत तक ब्याज दर प्रदान की जाएगी।

विदेशी मुद्रा जमाकर्ताओं को बैंक के साथ एफसीएनआर (बी) सावधि जमा खोलकर 4.25 प्रतिशत तक की ब्याज दर का भुगतान किया जाएगा। आपको बता दें कि इंडियन ओवरसीज बैंक ने सभी अवधियों में कोष की सीमांत लागत (एमसीएलआर) में 15 से 35 आधार अंकों की भी बढ़ोतरी की है। नई दरें 10 दिसंबर से लागू होने वाली हैं।

बैंक ने किए ये बदलाव
सार्वजनिक क्षेत्र के इंडियन ओवरसीज बैंक द्वारा एमसीएलआर में वृद्धि आरबीआई द्वारा दिसंबर 2022 की द्विमासिक मौद्रिक नीति में रेपो दर में हालिया संशोधन के बाद की गई है। आईओबी द्वारा एमसीएलआर में बढ़ोतरी से लोन ईएमआई के बढ़ने की संभावना है।

बैंक ने 1 साल के एमसीएलआर को 20 आधार अंकों से बढ़ाकर 8.25 फीसद कर दिया है जो 8.05 फीसद थी। इसी तरह 2 साल की एमसीएलआर अब 25 बेसिस प्वाइंट के बाद 8.35 फीसदी होगी। 30 आधार बिंदु के बाद 3 साल की एमसीएलआर दर मौजूदा 8.10 प्रतिशत से बढ़कर 8.40 प्रतिशत हो जाएगी।

6 महीने के शार्ट टाइम लोन के लिए MCLR में 20 आधार अंकों की वृद्धि की गई है, जो 8.15 प्रतिशत तक है। तीन महीने के उधार के लिए नया एमसीएलआर 15 आधार बिंदु के बाद 8 फीसदी होगा। 1 महीने की अवधि के लिए उधार लेने के लिए MCLR को 20 आधार अंकों से बढ़ाकर 7.70 प्रतिशत कर दिया गया है।

Download App Now

Check out the latest news from India and around the world. Latest India news on Business, income tax, gst, icai, company, Bollywood, Politics, Business, Cricket, Technology and Travel.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *